मुम्बई — अपने समय में हिंदी में गोल्डन पीरियड की क्लासिकल डांस की मशहूर अभिनेत्री वैजयंतीमाला का आज जन्मदिन हैं। उनका जन्म 13 अगस्त 1936 में हुआ था। उन्होंने हिंदी सिनेमा में लगभग दो दशकों तक काम किया है। सर्वगुण संपन्न वैजयंतीमाला का जन्म 13 अगस्त 1936 चेन्नई में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम एम.डी रमन और माँ का नाम वसुंधरा देवी था। वैजयंतीमाला की मां भी 40 के दशक की मशहूर अभिनेत्री हुआ करती थी । वैजयंतीमाला ने बहुत छोटी सी उम्र में फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था। उन्होंने अपने करियर की शुरूआत साल 1949 में आई तमिल फिल्म वड़कई से की थी। इसके बाद वैजयंतीमाला ने साल 1951 में हिंदी फिल्मों की तरफ रूख किया। उन्होंने पहली फिल्म बहार से कदम रखा था। इसके बाद उनकी कई हिंदी फिल्में रिलीज हुई जिसमे नई दिल्ली, नया दौर और आशा जैसी फिल्में शामिल हैं। उनकी इन फिल्मों को दर्शकों की तरफ से काफी ज्यादा सराहा गया। इसके बाद साल 1964 में आई फिल्म संगम में उनका राधा का किरदार सबसे ज्यादा बोल्ड था। इस फिल्म का एक गाना ‘मैं क्या करूँ राम मुझे बुढ्ढा मिल गया’ बहुत फेमस हुआ था। इस गाने को लोग आज भी पसंद करते हैं। इसके बाद फिल्म ‘ज्वेल थीफ’ में उन पर फिल्माया गया गाना ‘होठों पे ऐसी बात’ अब भी लोगों की जुबाँ पर है।एक बार बैजयंती माला को निमोनिया हो गया था उनका इलाज उनके फैन, डॉक्टर चमनलाल बाली कर रहे थे इलाज के दौरान मुलाकात रोज होने लगी और दोनों में प्यार हो गया इसके बाद दोनों ने शादी का फैसला लिया और 10 मार्च 1968 में शादी कर ली दोनों का एक बेटा भी है।

आज दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी के जन्मदिन के मौके पर बॉलीवुड एक्ट्रेस और उनकी बेटी जान्हवी कपूर तिरुपति मंदिर पहुँची। बेटी जाह्नवी के अलावा श्रीदेवी के पति बोनी कपूर ने भी उन्हें ट्वीट कर जन्मदिन की बधाई दिया है।गौरतलब है कि श्रीदेवी का फरवरी 2018 में दुबई के एक होटल में निधन हो गया था। वह अपने भांजे की शादी में शामिल होने दुबई गयी थी। जाह्नवी और बोनी कपूर कई इंटरव्यू में यह बात जाहिर कर चुके हैं कि वह अब तक श्रीदेवी को खोने के सदमे से उबर नहीं पाये हैं।

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *