झाड़खंड के गोड्डा जिले के सुंदर पहाड़ी गाव मे कुछ लोग आदिवासियो को कहते है वह PM के उज्ज्वला योजना के तहत उन्हे फ्री गैस कनैक्शन देने आए है l 70% आदिवासी राजी हो जाते है l उन्हे एक फोरम दिया जाता है साइन करो या अंगूठा लगाओ l एक फोटो दो , बैंक पास बूक और आधार कार्ड l फिर PoS मशीन पर उनका authentication भी लिया जाता है l

यह आदिवासी महिलाए मुख्यतः MNREGA मे काम कर अपना घर चलाती है l जब यह बैंक जाती है पैसे निकालने तो उन्हे पता चलता है उनके खाते मे पैसे नहीं है , सब चले गए …. और इन सभी के खाते SBI मे है l बैंक कहता है हम क्या करे ?

एक ब्लॉक से 1.5 लाख , दूसरे ब्लॉक 27,000 कई अनय ब्लॉक से 3 लाख l इन गरीबो मे जिसका सबसे अधिक पैसा गया 20,000 रुपए

मेरा सवाल — यह अनपढ़ महिलाए कहाँ जाय ? आधार समर्थक भक्त मार्गदर्शन करे , हा पुलिस मे जाये रिपोर्ट लिखाये का ज्ञान ना पेलना , इनहोने वह सब कर लिया है , कुछ नहीं हुआ कोई जिम्मेदारी लेने को तैयार नही

सुनियोजित तरीके से 15 से 20 लोगो का संगठित योजना बना यह ठगी की गयी NGO की आड़ में पता तब चला जब महिलाएं SBI ब्रांच में अपना एकाउंट चेक किया तो पाया कि किसी के एकाउंट में 1000 या 500 बचे FIR दर्ज हुई केवल 2 लोगों की गिरफ्तारी बताई जा रही है बैंक ने पड़ला झाड़ लिया कि वो कुछ नही कर सकते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *