इंग्लैंड — बर्मिंघम के एजबेस्टन मैदान पर कल क्रिकेट विश्वकप का दूसरा सेमीफाइनल मैच ऑस्ट्रेलिया और मेजबान इंग्लैंड टीम के बीच खेला गया। आस्ट्रेलिया की टीम ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय लिया।आस्ट्रेलियाई टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। 6.1 ओवर्स में 14 रन के स्कोर पर ही टीम अपने शुरुआती तीन विकेट गँवा बैठी। ऑस्ट्रेलिया के ये विकेट दूसरे, तीसरे और सातवें ओवर में गिरे । और ऑस्ट्रेलिया टीम 49 ओवर्स में 223 रन पर ही सिमट गयी। महज 14 रन के भीतर तीन अहम विकेट गँवाने के बाद स्टीव स्मिथ (85) की जुझारू पारी के बूते ही ऑस्ट्रेलिया इतना स्कोर खड़ा कर पाया।
आस्ट्रेलियाई टीम के 224 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुये इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को 08 विकेट से करारी शिकस्त दी। इंग्लैंड की अब खिताब के लिये भिड़ंत 14 जुलाई को न्यूजीलैंड से भिड़ंत होगी। एक ओर जहाँ इंग्लैंड की टीम चौथी बार फाइनल में पहुंची है। वहीं मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया आठवीं बार फाइनल में पहुँचने से चुक गयी। ऑस्ट्रेलियाई टीम को पहली बार सेमीफाइनल में हार का मुँह देखना पड़ा है। इंग्लैंड 1979, 1987 और 1992 में फाइनल तक पहुँचा लेकिन विश्व कप नहीं जीत सका था। हालांकि इस बार मेजबान टीम को शुरू से खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। अब इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के फाइनल में पहुँच जाने से वन डे क्रिकेट को नया चैंपियन मिलना तय हो गया है।क्योंकि ये दोनों टीमें कभी भी विश्व खिताब अपने नाम नहीं कर सकी हैं। 14 जुलाई को इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड कप का फाइनल खेला जायेगा। इस वर्ल्ड कप में जीतने वाली टीम पहली बार खिताबी जीत हासिल करेगी। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड दोनों ही टीमें आजतक वर्ल्ड कप का खिताब नहीं जीत पायी हैं।

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *