आज दिनांक 31/07/2019 को उन्नाव पीड़िता और तीन तलाक पर विचार गोष्ठी का आयोजन हुआ जिसमें लोगो ने विचार व्यक्त किये यह बैठक परेडग्राउंड प्रेस क्लब स्थितउज्वल रेस्टोरेंट मे विभिन्न प्रतिष्ठित सामाजिक संगठनों द्वारा एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें उन्नाव कांड पर विचार रखते हुए उन्नाव मे राजनीति का जो घिनोना चेहरा सामने आया है और जिस प्रकार से रेप पीड़िता को मरवाने की कोशिश की गई है उस से अपराधियों के बढ़ते हौंसले और कमजोर होती न्याय व्यवस्था का अंदाजा लगाया जा सकता है साथियों जरूरत है इस प्रकार के ज्वलंतशील मुद्दों पर एक होकर अपनी आवाज बुलंद करने और अन्याय के विरुद्ध अपनी ज्वाला को सरकार तक पहुंचाने और उसे कुम्भकर्णीय नींद से जगाने की । विचार गोष्ठी मे संयुक्त रूप से विचार रखते हुए वक्ताओं ने कहा कि जिस प्रकार से ये उन्नाव कांड को अंजाम दिया है इसके लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार को आगे आकर अपराधी के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाई का निर्णय लेते हुए उसके खिलाफ सरकार की तरफ से भी FIR दर्ज करवानी चाहिए ताकि अपराधियों के मन मे भय पैदा हो सके और साथ ही सन्सद मे ऐसे अपराधियों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए और आपराधिक किस्म की प्रवर्ति व लोगों को किसी भी चुनाव को लड़ने के लिए टिकट नही दिया जाना चाहिए और विपक्षीय पार्टीयों को भी इसी नियम को अपनाने के लिए आगे आना होगा तभी अपराध पर अंकुश लगाने मे कुछ हद तक सफलता प्राप्त हो सकती है । विचार गोष्ठी के दौरान तीन तलाक का बिल पारित होने को लेकर भी उत्साह दिखा जिसमे एक दूसरे का मुंह मीठा करवाकर इस मौके पर एक दूसरे को बधाई दी गयी । विचार गोष्ठी मे मुख्य रूप से -जस्मिन्दर कौर,रमा गोयल,सुशीला बलूनी ,गुलिस्तां खानम,अंजुम प्रवीन, उमा सिसोदिया, निर्मला बिष्ट, शकुंतला गुंसाई, के०जी० बहल सुशील त्यागी,आरिफ खान, धर्मेन्द्र ठाकुर आकेश भट्ट (NAPSR).जी०एस०जस्सल,कर्नल बी०एम०थापा, कर्नल मिनास, प्रदीप कुकरेती ,जगमोहन मेंदीरत्ता, मुकेश शर्मा, जितेंद डंडोना, पी०डी०गुप्ता, मनोज ध्यानी,इत्यादि ने अपने विचार रखे । ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *