जाँजगीर चाँपा — भारतीय कुष्ठ निवारक संघ सोंठी आश्रम चाम्पा के निदेशक, पद्मश्री दामोदर गणेश बापट का देर रात निधन हो गया। वे कुछ दिनों से अस्वस्थ थे। उनके निधन से प्रदेश ने सच्चा समाजसेवक खो दिया है। उनके निधन से आरएसएस और भाजपा में शोक की लहर है। भगवान परशुराम ब्राह्मण युवा संगठन चाँपा सहित कई संगठनों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है। बापट जी के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन आज प्रातः 09:00 बजे से 12:00 बजे तक सोंठी आश्रम में हो सकेगा। उसके पश्चात उनके पार्थिव शरीर को मेडिकल कॉलेज को दे दिया जायेगा।

कुष्ठ पीड़ितों की सेवा में समर्पित बापट

श्री बापट चाँपा से आठ किलोमीटर दूर ग्राम सोठी में भारतीय कुष्ठ निवारक संघ द्वारा संचालित आश्रम में कुष्ठ पीड़ितों की सेवा के लिये अपना सम्पूर्ण जीवन समर्पित कर दिये थे। इस कुष्ठ आश्रम की स्थापना सन 1962 में कुष्ठ पीड़ित सदाशिवराव गोविंदराव कात्रे ने की थी। वहाँ वनवासी कल्याण आश्रम के कार्यकर्ता बापट सन 1972 में पहुँचे और कात्रे जी के साथ मिलकर उन्होंने कुष्ठ पीड़ितों के इलाज और उनके सामाजिक-आर्थिक पुनर्वास के लिये सेवा के अनेक प्रकल्पों की शुरूआत की। उन्हें 2018 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया।

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *