गौर तालब है की ग्लोबल वार्मिंग चलते ठंडी गर्मी और बारिश तीनो बहुत अनियमित हो गई है ठंडी में पाला और गर्मी इतनी की फसल सुख कर जलने लगे बेमौसम बारिश ओले फसल खराब कर रही है किसान बेहाल है ।

किसान बीमा राशि बैंक के खातों से काटी जा रही नियमित रूप से किसी एक कॉम्पनी द्वारा जिसको सरकार ने नुकसान की भरपाई की जिम्मेदारी दी।

क्या बीमा कॉम्पनी किसान को बताती है कि फायर फ्लड नही कवर है अगर नही कवर है पालिसी में तो फिर बीमा क्या फायदा ।साफ होता है कि बीमा केवल बीमा कंपनी को फायदा पहुंचाने नही बीमा धारक से प्रीमियम लेते वक्त पालिसी कवर बताया जाए किसान की इक्षा है वो क्या क्या कवर करवाना चाहता है।

40%किसान आज नुकसान झेल रहा है कृषि कार्य में कोई मदद नही उल्टे किटनासक खाद और बीमा कॉम्पनिया माल कमा रही किसान के मेहनत की कमाई के पैसे से ।

उत्तरभारत से खड़ी गेहूं की फसल आग में जलने की खबर बराबर आ रही किसान आग बुझाने के चक्कर में जल कर मर रहे है हजारो एकड़ फसल जल कर खाक हो गई।कौन मुआवजा देगा नुकसान की भरपाई कौन करेगा गंभीर समस्या है किसान के लिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *