रायपुर — मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से आज यहां उनके निवास कार्यालय में भारत भ्रमण पर छत्तीसगढ़ आये भारतीय पुलिस सेवा के 22 प्रशिक्षु युवा अधिकारियों ने मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने उन्हें छत्तीसगढ़ की स्थिति तथा राज्य की चुनौतियों की जानकारी दी। उन्होंने युवा अधिकारियों से राज्य की नक्सल समस्या के बारे में भी विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ की चुनौती देश के अन्य राज्यों से कुछ अलग है। यहां के बस्तर में 60 से 80 प्रतिशत आदिवासी निवास करते हैं। उनका जीवन जंगल पर निर्भर है । इस क्षेत्र में गरीबी और बेरोजगारी जैसी समस्या है जिसका नक्सली विकास नहीं होने देते। सुरक्षा बल के जवान अपने जान की बाजी लगाकर कार्य करते हैं। यहाँ की सुरक्षा और विकास के लिये राज्य ने बड़ी कीमत चुकायी है नक्सलवाद के विरूद्ध चौतरफा लड़ाई लड़ने की जरूरत है। आम जनता को भरोसा होना चाहिये कि पुलिस उनकी सुरक्षा के लिये है और यह विश्वास अर्जित करना ही आपके लिये कसौटी है। छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिरीक्षक ओ.पी.पाल ने अधिकारियों का परिचय कराते हुये बताया कि दल में अकादमी के असिस्टेंट डायरेक्टर सी. वक्सी कृष्णा और दो महिला अधिकारी भी शामिल हैं। इन अधिकारियों ने छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान कांकेर के जंगल वार फेयर कालेज तथा नया रायपुर और जंगल सफारी का भी भ्रमण किया ।उल्लेखनीय है कि भारतीय पुलिस सेवा के 2018 बैच के 156 अधिकारी वर्तमान में सरदार वल्लभ भाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी हैदराबाद में प्रशिक्षण ले रहे हैं। इस बैच में छत्तीसगढ़ कैडर के सात अधिकारी भी शामिल हैं।

अरविन्द तिवारी की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *