आज भुपेह बघेल जो राहुल गांधी के करीबी छत्तीसगढ़ के CM मध्‍य प्रदेश के दुर्ग (अब छत्तीसगढ़) में 23 अगस्त 1961 को जन्‍मे भूपेश बघेल ने 80 के दशक में कांग्रेस के साथ ही राजनीतिक पारी शुरू की थी। कुर्मी क्षत्रिय परिवार से ताल्‍लुक रखने वाले बघेल राज्‍य में पार्टी की जीत पर कह चुके हैं कि राहुल गांधी ने उन्‍हें छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बहुमत दिलाने की जिम्मेदारी सौंपी थी और उन्‍होंने यह कर दिखाया। हालांकि, खुद बघेल का नाम कई तरह के विवादों में फंसा हुआ है, जिसमें सेक्‍स सीडी कांड से लेकर संपत्त‍ि का मामला भी है।
कांग्रेस के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष राहुल गांधी बड़ी मुश्‍क‍िलों से मिली इस जीत के बाद विवादों से बचना चाहते हैं। इसलिए वह रायशुमारी भी करवा रहे हैं। लेकिन समझा जा रहा था कि छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल का नाम ही सबसे आगे है। बघेल ने लंबे समय तक पार्टी के लिए सड़कों पर संघर्ष किया है। वह सिर्फ रमन सिंह सरकार के खिलाफ ही नहीं, बल्‍क‍ि अजीत जोगी की नई पार्टी से मिली चुनौती के आगे भी डटे रहे। भूपेश बघेल कांग्रेस प्रदेश कमेटी के प्रमुख हैं।
किसान परिवार से ताल्‍लुक रखने वाले भूपेश बघेल राजनीतिक गलियारे में अपने आक्रामक तेवर के लिए जाने जाते हैं। 90 सीटों वाले छत्तीसगढ़ विधानसभा में कांग्रेस ने 68 सीटों पर जीत हासिल की है। बीजेपी महज 15 सीटों पर सिमट कर रह गई। इस जीत का सेहरा बघेल के सिर ही बांधा जा रहा है, क्‍योंकि विधानसभा चुनाव से लेकर नगरीय निकाय चुनाव और पंचायत चुनाव की सारी रणनीति उन्‍होंने ही बनाई। कार्यकर्ताओं को तवज्जो देकर निकाय और पंचायत चुनाव में बघेल ने जो नतीजे हासिल किए, उसने पार्टी आलाकमान और वर्कर्स में विश्वास जगाने का काम किया।
मध्‍य प्रदेश के दुर्ग (अब छत्तीसगढ़) में 23 अगस्त 1961 को जन्‍मे भूपेश बघेल ने 80 के दशक में कांग्रेस के साथ ही राजनीतिक पारी शुरू की थी। कुर्मी क्षत्रिय परिवार से ताल्‍लुक रखने वाले बघेल राज्‍य में पार्टी की जीत पर कह चुके हैं कि राहुल गांधी ने उन्‍हें छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बहुमत दिलाने की जिम्मेदारी सौंपी थी और उन्‍होंने यह कर दिखाया। हालांकि, खुद बघेल का नाम कई तरह के विवादों में फंसा हुआ है, जिसमें सेक्‍स सीडी कांड से लेकर संपत्त‍ि का मामला भी है।
सीडी कांड की वजह से भूपेश बघेल ज्‍यादा सुर्खियों में रहे हैं। इस वजह से उन्हें जेल भी जाना पड़ा। उन्होंने तब जमानत लेने से भी इनकार कर दिया था। 27 अक्टूबर 2017 को एक कथित सेक्स टेप वायरल हुआ था, जिसमें छत्तीसगढ़ के एक मंत्री का नाम सामने आया था। मामले में बीजेपी ने कांग्रेस नेताओं पर कथित सेक्स सीडी बांटने का आरोप लगाया था। सीडी कांड में आरोपी विनोद वर्मा के साथ ही भूपेश बघेल के खिलाफ रायपुर में प्राथमिकी दर्ज हुई थी। सीबीआई अदालत ने बघेल को सीडी बांटने का दोषी पाया और उन्‍हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल किसान थे। उनकी मां का नाम बिंदेश्वरी बघेल है। भूपेश बघेल ने मुक्तिश्वरी बघेल से शादी की और उनके चार बच्चे हैं। बीते दिनों बघेल अपनी संपत्त‍ि के ब्‍योरे के कारण भी चर्चा में रहे। महज 5 साल में उनकी संपत्त‍ि 3 गुना बढ़ गई। दरअसल, 2013 के चुनावी हलफनामे में भूपेश बघेल ने अपनी संपत्त‍ि 8 करोड़ 34 लाख रुपये बताई थी। जबकि 2018 के हलफनामे में उन्‍होंने अपनी और पत्नी की कुल संपत्ति 23 करोड़ 28 लाख 29 हजार रुपये बताई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *