सूत्र

मेरठ का भमौरी गांव जिसे मिनी जलियावाला बाग भी कहा जाता है जहाँ क्रांतिकारियों ने अंग्रेज़ी हुकूमत पे सीने पे गोलियां खाई और बर्तानिया हुकमत की जड़े हिला दी यह उन क्रांतिकारी शहीदों का गांव है।सूत्र का कहना है कि गांव में प्रवेश करते ही क्रांतिकारी खुशबू आने लगती है इस गांव में 100 से अधिक सेना में जवान और अधिकारी हैं।

हर साल 18 अगस्त को क्रांतिकारी दिवस मनाया जाता है पर सरकार की कोई सहभागिता नही होती तमाम नेता और अधिकारी इस गाँव में आये पर आश्वासन के अलावा कोई सुविधा नही दी न ही शहीदों के नाम कोई कार्य किया ।

अंग्रेजी हुकूमत को आइना दिखाने वाले बलिया के रामस्वरूप वर्मा जब गांव गांव घूम के लोगो को क्रांति के लिये जागृत कर रहे थे ,इस गांव में आकर चौपाल लगाई और गांव के लोग इकठ्ठे हुए। 18 अगस्त 1942 चौपाल भमौरी गांव के लोग इकट्ठे हुए यह बात अंग्रेजोंको पता चली तो उस बैठेक पे अंग्रेज सिपाहियों ने घेर कर गोली चलाई जिसमे रामस्वरूप वर्मा समेत 4 और को गोली लगी बहुत लोग घायल हुए ,अंग्रेज़ो ने इस गांव को तोप से उड़ाने के आदेश दिए पर तोप रास्ते में ही फंस गई और लोग जंगलों में छुप गए बाद में अंग्रेजों ने गांव पर अर्थ दंड लगाया ।

वहां के स्थानीय बुजुर्ग बताते है कि भमौरी गांव में शहीदों के नाम से कोई कार्य नही हुआ सरकार इस गांव को भूल गए पर सहादत इतिहास में दर्ज है जिसको कोई भूला नही सकता ।शहीदों के नाम से यहां कार्य होने चाहिये वहाँ मूलभूत उपस्वास्थ्य केंद्र बंद पड़ा है ।समुदायक भवन केंद्र नही है पूर्व सरकार के राजेन्द्र चौधरी से पानी की टंकी ,सड़क एवं डिग्री कालेज की मांग प्रस्तावित किया पर कोई काम नही हुआ ।यहां तक क्रांतिकारी शहीद दिवस मनाया जाता है हर साल ।वो भी गांव के लोग चंदा कर मनाते है। एक आध बार प्रशासन से आये पर अब तो पटवारी तक नही आते ।ऐसा नही क्षेत्र प्रतिनिधि चाहे तो इस गांव को क्रांतिकारी पहचान दे सकते हैं ।

स्थानीय लोग बताते है कि जवाहर लाल नेहरू और नारायण दत्त तिवारी जैसे उच्च मंत्री नेता इस गांव में आचुके हैं गांव में बैंक नही है किसान को बहुत दूर दूसरे गांव जाना पड़ता है । लड़कियां को स्कूल जाने के लिये 6 से 7 किलोमीटर का रास्ता तय करना पड़ता है ।इतनी उपेक्षा क्रांतकारी गांव की अच्छी नही।

गांव में स्कूल,समुदायक भवन ,शहीदों के श्रद्धांजलि कार्यकर्म आयोजन एवं अस्पताल बैंक की व्यवस्था होनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *