विधायक पप्पू भरतौल द्वारा भगाए जाने के बाद ब्लॉक प्रमुख प्रत्याशी रहे गौरव सिंह अरमान ने भाजपा के दो कद्दावर नेताओं के साथ अजितेश और साक्षी की पटकथा लिखी थी। कॉल डिटेल, लोकेशन और कुछ लोगों के बयानों ने इसकी पुष्टि कर दी है। लोगों ने तीनों को एक साथ बैठे, गाड़ियों से आते जाते देखा है। इसके अलावा उस दौरान की उनकी कॉल डिटेल से भी उनके चेहरे बेनकाब हो गये हैं।इस प्रकरण के जांच के आदेश CM योगी ने दिए

दो महीने पहले विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल ने गौरव सिंह अरमान को अपने कार्यालय से भगा दिया था। इससे पहले तक वह विधायक का सबसे करीबी व्यक्ति था। बिथरी ब्लाक प्रमुखी का चुनाव लड़वाने से लेकर विधायक ने हर कदम पर उसका साथ दिया। विधायक की दम पर कोटे की ब्लैक मार्केटिंग, अवैध खनन का धंधा करता था। विधायक के आउट करने के बाद वह उनसे अपमान का बदला लेना चाहता था।

पार्टी में ही विधायक से नाराज चल रहे दो कद्दावर नेताओं की वह शरण में गया। पहले तो विधायक को दूसरे तरीकों से हानि पहुंचाने पर विचार किया गया, लेकिन बात नहीं बनी। विधायक के गर्व पर चोट कर उनकी राजनीति को नुकसान पहुंचाने की रणनीति तय की गई।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के पास से प्रेमी युगल साक्षी और अजितेश के अपहरण की अफवाह उड़ी ,हाई कोर्ट ने प्रेमी युगल को साथ रहने के आदेश दिए।

इलाहाबाद हाईकोर्ट के पास से सोमवार को दिनदहाड़े अमरोहा के प्रेमी युगल को अगवा करने से हड़कंप मच गया। कड़ी मशक्कत के बाद फतेहपुर के बड़ौरी टोल प्लाजा से पुलिस ने प्रेमी युगल और उन्हें उठाने वाले आरोपितों को धर-दबोचा। अफवाह फैली कि बरेली विधायक की बेटी साक्षी और उसके पति अजितेश का अपहरण हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *