उत्तराखण्ड की सड़कों का हाल इस कदर बेहाल है कि इन सड़कों से गुजरने वाले अपनी जान हथेली पर लेकर घूम रहे हैं। उस पर बरसात के मौसम में पूरे देहरादून ने निगम और सरकारी तंत्र की बैण्ड बजा कर रख दी है। शहर की कोई ऐसी गली कोई ऐसा मुहल्ला या कोई ऐसी सड़क ही होगी जहां गढढे न हों। स्मार्ट सिटी में शुमार उत्तराखण्ड की अस्थाई राजधानी देहरादून में सड़कों का हाल बहुत ही बुरा है, जिसे लेकर आये दिन अखबार में खबरें आती रहती है। जनता भी सरकार की खामोशी से नाराज नजर आती है, कुछ तो इस बात पर बयानबाजी करते नजर आते हैं कि भाजपा वाले उन जगहों पर ही काम कराते हैं जहां उन के वोट होते हैं या ये रोना रोते हैं कि हम कांग्रेसी हैं इसलिए हमारी तरफ से अनदेखी है। लेकिन मैं आपको एक ऐसी जगह की तस्वीर दिखाता हूं जहां पर भाजपा का साम्राज्य है लेकिन हाल बेहाल। जी हां यह तस्वीरें आप देख रहे हैं ये हरिद्वार संसदीय क्षेत्र और धरमपुर विधान सभा के अन्र्तगत पड़ने वाले मुहल्ला व्राहमणवाला निरंजनपुर की सड़क है, इसकी खासियत आपको बता दें तो आपको बेहद हैरानी होगी। यहां पर भाजपा की पूर्ववर्ती सरकार में मुख्यमंत्री के पर्यटन सलाहकार रहे प्रकाश सुमन घ्यानी जी का घर हैं, इसी सड़क पर काग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रहे राजीव जैन का मकान है। इस सड़क पर चार स्कूल भी हैं जिसमें हजारों की तादाद में छोटे-छोटे बच्चे पढ़ते है,ं इस सड़क की बदहाली को तकरीबन एक साल से ज्यादा का वक्त हो गया वहीं बरसात के दिनों में यहां नालियां न होने से सड़क पर पानी भरा रहता ह,ै उस पर जगह-जगह गढ्ढे होने से दोपहिया वाहन से स्कूली बच्चे बाईक से नीचे गिर पड़ते है तो वहीं बुजूर्ग भी कई बार इन गढढों में फंसकर गिर कर चोट खा बैठे हैं, लेकिन सरकार कुम्भकर्णी नींद से नहीं जागी। सबसे ज्यादा शर्मनाक बात तो ये है कि ये क्षेत्र एच.आर.डी. मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का संसदीय क्षेत्र होने के साथ भाजपा विधयक विनोद चमोली का विधान सभा क्षेत्र भी है। सोने पर सुहागा कि इसी सड़क पर वर्तमान में मुख्यमंत्री के ओ.एस.डी. धीरेन्दं पंवार का परिवार भी रहता है। अब आप खुद बताये इस पूरी तरह से भगवा रंग में रंगी सड़क का कौन पुरसाने हाल होगा।

सलीम रज़ा, रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *