महाराष्ट्र के अहमदनगर में एक पिता ने अपनी 19 साल की प्रेग्नेंट बेटी और 23 साल के दामाद को जिंदा जला दिया. पिता को इस आपराधिक कृत्य में उनके बेटों ने भी सहयोग दिया. पुलिस आरोपी पिता की तलाश कर रही है।
पुलिस के मुताबिक, घटना निघोज गांव में एक मई को हुई. जिंदा जलाए जाने के बाद बेटी की मौत हो गई, जबकि दामाद गंभीर रूप से घायल हो गया।
कपल की पहचान मंगेश रणसिंघे और रुक्मिणी के रूप में हुई है. जबकि पिता का नाम राम भारतीय है और उनके बेटे का नाम सुरेंद्र भारतीय और घनश्याम है।
बेटी ने छह महीने पहले इंटर कास्ट लड़के से शादी की थी जिससे पिता खुश नहीं थे. बेटी दो महीने की प्रेग्नेंट भी थी. पिता एक मजदूर हैं।
घटना को अंजाम देने के लिए पिता ने दो बेटों की मदद से कपल के ऊपर केरोसीन डाल दिया. पिता के अन्य रिश्तेदार भी इंटर कास्ट शादी का विरोध कर रहे थे।
पुलिस ने मर्डर, मर्डर की कोशिश का केस दर्ज कर लिया है. रणसिंघे जहां लोहार जाति से है, जबकि रुक्मिणी पासी जाति की थी. जब रणसिंघे पत्नी को लेने के लिए घर आया, उसी दौरान पिता ने अपने घर पर घटना को अंजाम दिया।
कपल के बीच किसी चीज को लेकर मामूली विवाद हो गया था, इस पर वह पिता के घर आ गई थी. आग की लपटों के बारे में जब पड़ोसियों को अंदाजा हुआ तो उन्होंने पीड़ितों को हॉस्पिटल पहुंचया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *