गवर्नर साहब! औरों को नसीहत देने से पहले स्वयं की जिम्मेदारी कब समझेंगे – मोर्चा.

विकासनगर- जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने कहा कि कल महा. राज्यपाल श्री गुरमीत सिंह ने एलबीएस प्रशासनिक अकादमी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कर्तव्य, दायित्व एवं जिम्मेदारी को लेकर बहुत बड़ा भाषण दिया और कहा कि हर व्यक्ति को अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए, लेकिन मोर्चा महा. राज्यपाल से पूछना चाहता है कि क्या आप अपनी जिम्मेदारी कर्तव्य एवं दायित्व का निर्वहन ईमानदारी से कर रहे हैं !आज प्रदेश में माफिया राज कायम है प्रदेश जल रहा है, लेकिन आप खामोश बैठे हैं | नेगी ने कहा कि जिस वक्त राज्यपाल के रूप में लेफ्टिनेंट जनरल (से.नि) श्री गुरमीत सिंह की ताजपोसी हुई, उस समय आमजन को लगा कि एक फौजी ने प्रदेश की कमान अपने हाथ में ली है, लेकिन जनता की उम्मीद उस वक्त दम तोड़ गई ,जब गवर्नर साहब सरकार के साथ कदमताल करने लगे | नेगी ने कहा कि राजभवन की लापरवाही एवं निकम्मेपन की वजह से माफियाओं /दलालों ने अधिकारियों को अपनी गिरफ्त में ले लिया है ,जिसका परिणाम यह हुआ कि माफिया/ दलाल अपने मनमाफिक नियम विरुद्ध तक के काम कर रहे हैं तथा वहीं दूसरी और आमजन के छोटे-मोटे जायज कामों पर भी अधिकारी आपत्तियों पर आपत्तियां लगाकर पत्रावलियों को कूड़े का ढेर बना रहे हैं | यहां तक कि अधिकारी आमजन की पत्रावलियों को पढ़ने/ समझने तक को तैयार नहीं हैं | बिना सुविधा शुल्क/ जजिया कर चुकाए फाइल एक इंच भी आगे नहीं सरक रही| नेगी ने कहा कि प्रदेश के हितों की कोई चिंता करने वाला नहीं है तथा आमजन अपने छोटे-मोटे कामों के लिए दर दर की की ठोकरें खा रहा है ,लेकिन इसके बावजूद उसको इंसाफ नहीं मिल रहा | नेगी ने कहा कि इन दलालों ने अधिकारियों में इतनी गहरी पैठ बना ली है कि अधिकारी आज सरकार की भी सुनने को तैयार नहीं | आज हालात यह हैं कि प्रदेश की दुर्दशा पर राजभवन तमासबीन बना बैठा है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *